महादलित युवक को अपराधियों ने ईंट व पत्थर से कुच-कुचकर की निर्मम हत्या, सड़क के किनारे….

father-killed-son

रिप्रजेंटेटिव फोटो

नालन्दा,(दया शंकर प्रसाद सिंह)-तेल्हाड़ा थाना क्षेत्र के सोनियावा गाँव के खेल मैदान के समीप सोमवार की रात्रि में अपराधियों ने एक महादलित युवक के चेहरे व गर्दन को ईंट पत्थर से कूच-कूचकर निर्मम हत्या कर बदमाशों ने सड़क के किनारे फेक दिया.मृतक युवक की पहचान सैदपुर गाँव निवासी वसंत रविदास के 22 वर्षीये पुत्र बिक्की कुमार उर्फ ललिन्द्र कुमार के रूप में हुई है. मंगलवार की अहले सुबह घटना की सूचना मिलते ही तेल्हाड़ा,एकंगर सराय,औंगारी थाने के थानाध्यक्ष ने सशस्त्र बल के साथ घटना स्थल पर पहुँचकर शव को अपने कब्जे में लेना चाहा. लेकिन उतेजित ग्रामीणों व परिजनों ने विरोध प्रकट करते हुए शव को उठाने नहीं दिया. वरिय पुलिस अधिकारी को आने व अपराधियों को अविलम्ब गिरफ्तारी करने की मांग पर अड़े रहे.

तेल्हाड़ा थानाध्यक्ष ऋषिकेश कुमार,एकंगर सराय थानाध्यक्ष दिनेश मालाकार,औंगारी थानाध्यक्ष अनिल कुमार के द्वारा उतेजित लोगों को काफी समझाने के बाद करीब साढ़े दस बजे पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए बिहार शरीफ भेजा.

घटना के सम्बंध में बताया जाता है कि सोनियावा पंचायत के सैदपुर गाँव निवासी बिक्की कुमार उर्फ ललिन्द्र कुमार 18 जनवरी से इसलामपुर में जियो मोबाइल कम्पनी में काम कर रहा था.वे प्रतिदिन अपने घर से साइकिल से इसलामपुर आने जाने का काम करता था.बिक्की ने सोमवार को करीब साढ़े सात बजे सायं में अपने बहनोई जितेन्द्र कुमार के पास फोन किया था,लेकिन किसी कारणवश बात नही हो पाई. बहनोई जितेन्द्र कुमार ने तुरंत बिक्की के मोबाइल पर कॉल किया तो मोबाइल बंद बताने लगा.बिक्की के मोबाइल पर वे रात भर कॉल करते रहे,लेकिन मोबाइल बंद बताया गया.

मंगलवार की सुबह जब गाँव के लोग बाहर टहलने के लिए निकले तो देखा कि सैदपुर गाँव निवासी वसंत रविदास के पुत्र बिक्की कुमार उर्फ ललिन्द्र कुमार मृत पड़ा हुआ है. इस घटना की सूचना गाँव समेत इर्दगिर्द के गाँव मे आग की तरफ फैल गई,औऱ देखते ही देखते सैकड़ो लोगों की हुजूम उमड़ पडा.पुलिस ने इस घटना को गम्भीरता पूर्वक लेते हुए कई बिंदुओं पर जाँच करना शुरू कर दिया है.

पुलिस ने दावा किया है कि बहुत जल्द ही इस घटना में संलिप्त लोगों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा.मृतक के मोबाइल व गले मे सोने की लॉकेट को भी बदमाशों ने छीन ले गया.

मृतक की बहन सर्विला देवी एवं सुनीता देवी ने बताया कि बिक्की के पास मंहगे मोबाइल व गले मे सोने की लॉकेट था उसे भी अपराधियों ने छिन ले गया.बिक्की का साइकिल व बैग सड़क के किनारे पड़ा हुआ था.
बिक्की पाँच भाई बहन में सबसे छोटा था.बड़े भाई मिथलेश रविदास,दूसरे भाई कारू रविदास एवम तीसरे भाई में बिक्की कुमार था.बिक्की का शादी अभी नहीं हुआ था .दो दिन पूर्व शादी के लिए लड़की देखा गया था.

घर मे एक बिक्की ही था जो बुजुर्ग माता पिता एवं रोग ग्रस्त भाई कारू का सहारा था.किसी तरह कर्ज़ मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण कर रहा था.जियो मोबाइल कंपनी से जनवरी एक माह का वेतन करीब 12 हजार रुपये उठाया था.बिक्की का सपना था कि पहले कर्ज़ को तोड़कर बाद में एक घर बनाएंगे,जो सपना अधूरा रह गया.

बिक्की की मौत की खबर सुनते ही गाँव मे मातमी सन्नाटा पसर गया.लोगों के आँखों से आँसू रुकने का नाम नहीं ले रहा है. वहीं मृतक बिक्की के वयोवृद्ध माता,बहन,भाई समेत अन्य परिजनों का रो रोकर बुरा हाल हो गया है.वयोवृद्ध माँ रो-रोकर कहती है कि केकरा सहारे रहबई ये वेटवा इतना कहकर बेहोश हो जाती है.बहन सर्विला देवी एवं सुनीता देवी रो-रोकर कहती है कि बेटा जैसन पालन,पोषण कर जवान कैली हलगे मइया।कर्जा तोड़ के घरवा बनावे ला कहहल जी भाईवा कहकर बेहोश हो जाती है.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Tagged with:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *