गेहूं की कालाबाजारी करते हुए रंगे हाथ ग्रामीणों ने डीलर को धर दबोचा, किया पुलिस के हवाले, पुलिस कर रही लीपापोती….


संजीव मिश्रा,भागलपुर: एक तरफ जहां गरीब को खाने के लाले पड़े हुए हैं, सरकार राहत कार्य देती है मगर समाज के ठेकेदार आम गरीबों तक अनाज को पहुँचने नहीं देते हैं. ताजा मामला है भागलपुर जिले के सनहोला प्रखंड के मिल्की गांव का. देर रात सनहोला के मिल्की गांव के डीलर सुबोध रजक जब रात के अंधेरे का फायदा उठाकर गाड़ी से लदा माल कालाबाजारी के लिए बाहर भेज रहे थे, तभी ग्रामीणों ने ऐन वक्त डीलर सुबोध रजक को पकड़ा.

ग्रामीणों को देख पहले तो अवाक रह गया, ग्रामीणो ने स्थानीय थाने को फोन कर माल जब्त करवा दिया. इसी बीच सुबह से खबर ये आ रही है की पुलिस के मिली भगत से उस माल को गायब कर दिया गया है. ग्रामीणों में कहलगांव गांधी युवा मंच के अध्य्क्ष व उप मेयर पति मनोज यादव ने जब मार्केटिंग ऑफिसर से बात की तो उन्होंने संतोषजनक जवाब दिए बिना फोन काट दिया, जब थाना प्रभारी से बात की गई तो वो भी जवाब देते नहीं दिखे. ग्रामीण काफी आक्रोशित दिखे प्रशासन के रवैये से ग्रामीणों ने मार्केटिंग ऑफिसर पर घपला करने का आरोप लगाया. जब हमारे संवाददाता ने थानाप्रभारी बरुण कुमार से बात करनी चाही तो उन्होंने फोन रिसीव ही नहीं किया. आखिर ग्रामीणों द्वारा कालाबाजारी के लिए जाती हुई व अनाज को कौन खा गया? क्या थाना प्रभारी की इसमें संनलिप्ता है? जो भी हो यह खबर डीआइजी विकास वैभब तक स्थानीय लोगों में से गौतम, नवीन, सहदेव, एवम मनोज यादव ने पहुंचा दी है, अब देखना यह है कि प्रशासन क्या कदम उठाती है.



इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *