अपनी जाति धर्म के दो रक्षकों ने ब्लॉगर के पोस्ट से असहमत होकर दी गालियाँ और धमकी

prerna pratham singh

सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर कुछ लोगों ने इंसान की अपनी वैचारिक अभव्यक्ति में सेंध लगाने का ठेका ले रखा है. फेसबुक और ट्विटर पर आये दिन लोग किसी न किसी की बातों से असहमति रखते हुए गालियाँ और धमकी तक देने लगते हैं. दिल्ली विश्वविद्यालय के सुप्रसिद्ध सेंट स्टीफेंस कॉलेज की एक पूर्व छात्रा प्रेरणा प्रथम सिंह फेसबुक पर काफ़ी सक्रिय रहती हैं और उन्हें पढ़ने वाले लोग भी बड़ी संख्या में होते हैं.

प्रेरणा अपने पिछले एक दो पोस्ट में रानी पद्मावती को लेकर कुछ बातें कही थी. पद्मावती और राजपूतों पर पोस्ट और कमेंट्स उनके दो फॉलोवर को रास नहीं आये. इसके बाद उनलोगों ने इनके साथ इनबॉक्स में कुतर्क करना शुरु कर दिया. हेयांश सिंह नाम से एक प्रोफाइल ने उन्हें इनबॉक्स में भद्दी-भद्दी गालियों के साथ मार देने तक की धमकी दे डाली. प्रोफाइल में युवक ने अपना होमटाउन पटना लिख रखा है.

चंदन सिंह गहलोत नाम के दूसरे युवक ने इनसे इनबॉक्स में जबरदस्ती यह पूछने लगा कि राजपूत नहीं हो तो सिंह क्यों लगाती हो. प्रेरणा के मना करने पर शख्स ने कहा कि अब क्या हुआ पहले तो बहुत-बहुत चड़-चढ़ कर रही थी. प्रेरणा ने बताया कि चंदन को ब्लॉक करने के बाद हेयांश नाम के शख्श ने मैसेज किया था.

सोशल नेटवर्किंग साइट्स की सबसे बड़ी समस्या ये रही है कि इसने हर स्तर के लोगों को एक जगह लाकर खड़ा कर दिया है. इसमें कई बार बेहतर जानकार लोगों को भी ऐसे लोगों से पाला पड़ते रहता है. जो युवक इसमें अपने धर्म और गौरव की रक्षा की बात कर रहा है शायद उसे पता नहीं कि नारी अस्मिता की रक्षा करना भी एक क्षत्रिय का धर्म है. जब यह मामला हमारी जानकारी में आई तो हमने इसे छापना सही समझा. हम इस खबर के माध्यम से पटना पुलिस से यह अपील करते हैं कि इसपर संज्ञान लेते हुए उन दो युवकों को जल्द से जल्द गिरफ़्तार करें.


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *