मनरेगा में 89.6%आधार आच्छादन के साथ बिहार का यह जिला बना नंबर वन…

ललन कुमार,शेखपुरा: शेखपुरा डीएम दिनेश कुमार माइक्रो लेवल पर अपने पदाधिकारियों से कार्य करवाने में आखिर सफल साबित हो ही गए. डीएम द्वारा हमेशा अपने पदाधिकारियों को समीक्षा बैठक में अक्सर निर्देश दिया जाता रहा है कि सरकार की कल्याण कारी योजना में लोगों को आधार कार्ड से जोड़ना है. इसमें कभी भी कोताही न बरतें जो भी अनियमितता कभी कभी सामने आती है आधार से आच्छादित हो जाने के बाद सारी अनियमिताएं अपने आप समाप्त हो जाएगी.

आज शेखपुरा डीएम का मेहनत रंग लाया और बिहार में शेखपुरा का नाम मनरेगा में आधार आच्छादन में 89.6% के साथ एक नम्बर हासिल की. इसकी जानकारी देते हुए एडीपीआरो ने कहा कि समन्वय समिति की बैठक में बताया गया कि शेखपुरा जिला डीएम के प्रयास से बिहार राज्य में मनरेगा में 89.6%आधार आच्छादन के साथ एक नंबर पर पहुंच गया है. समीक्षा बैठक में सीडब्ल्यूजेसी, ऐसी-डिसी बिल, मनरेगा, पीएम आवास योजना, पंचायती राज, परवरिश योजना, पशुपालन, गव्य विकास विभाग समेत अन्य विभागीं की समीक्षा की गई.

उन्होंने बताया कि सीडब्ल्यूजेसी के लिए oath दायर करने के लिए अब हाईकोर्ट जाने और उसकी चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है. पदाधिकारियों को परेशानी से बचाने के लिये 2015 में हाईकोर्ट ने एक पत्र निर्गत कर कहा है कि oath अब लोक अभियोजक के कार्यालय में भी लिया जा सकता है. उन्होंने बताया कि पशुपालन विभाग द्वारा अबतक 93200 पशुओं को टिका लगाया गया है. साथ ही अनुसूचित जाति के पशुओं की सुरक्षा के लिए उन्हें  एल्बेंडाजोल की गोली जल्द ही खिलाई जाएगी. परवरिश योजना की समीक्षा के दौरान डीएम ने डीपीओ को एलएस से रिपोर्ट लेने को कहा है.

यह भी पढ़ें:
शेखपुरा में तेजस्वी यादव ने बयान किया अपना दर्द, कहा

शेखपुरा में निजी कार्यक्रम में पहुंचे नीतीश कुमार मीडिया से बचते दिखे, साफ़ दिखा तनाव…

शेखपुरा में एसडीपीओ सहित पुलिस-पब्लिक में भिड़ंत, आक्रोशितों ने नोच डाला एसडीपीओ के बैच


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *