अगर आप भी करना चाहते है माता रानी को प्रसन्न तो जरुर पहने इस….

Navratri-2017-Colours


इस बार नवरात्री 21 सितंबर से शरू होकर 30 सितंबर तक चलेंगे. नवरात्र में नौ दिन माँ के नौ रूपों की पूजा होती है. इन दिनों मां का श्रृंगार भी नौ अलग-अलग रंग के वस्‍त्रों से किया जाता है. ऐसे में मान्यता है कि भक्‍त भी प्रत्‍येक नौ दिन अलग-अलग रंग के कपड़े पहनकर अगर मां की पूजा आराधना करें तो मातारानी निश्चित ही प्रसन्‍न होंगी.
maxresdefault
शैलपुत्री
नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की जाती है. इस दिन के लिए सबसे शुभ रंग पीला माना जाता है. पीला रंग सुख और ऊर्जा का प्रतीक है. हो सके तो इस दिन गाढ़ा पीला रंग कतई न पहनें.
maxresdefault (1)
ब्रहाम्चारिणी
द्वितीया को मां ब्रह्मचारिणी की आराधना की जाती है. नवरात्र के दूसरे दिन का रंग होता है हरा रंग. इस रंग के कपड़े पहनना नवरात्र में काफी शुभ होता है.
maa-siddhidatri-photo-1200x800
चन्द्रघंटा
तीसरा दिन मां चंद्रघंटा को समर्पित होता है। माता के इन शुभ दिनों में तीसरे दिन ग्रे रंग के वस्‍त्र धारण करने चाहिए। ग्रे कलर के अलावा इस दिन सिल्‍वर कलर के कपड़े पहनना भी काफी शुभ होता है।
Kushmanda-devi
कुष्मांडा
नवरात्र का चौथा दिन होता है मां कूष्‍मांडा का. इस दिन के लिए सबसे उपयोगी रंग है नारंगी. नारंगी रंग रचनात्‍मकता और उत्‍सुकता का प्रतीक समझा जाता है.
skandmata_57f36bd3ce824
स्कंदमाता
पांचवें दि‍न स्‍कंदमाता की पूजा की जाती है. मां को प्रसन्न करने के लिए पांचवें दिन सफेद रंग के वस्त्र पहनना शुभ माना जाता है. सफेद रंग शुद्धता और शांति का प्रतीक समझा जाता है. इस दिन सफेद रंग के कपड़े पहनने से न सिर्फ मानसिक शांति मिलती है बल्कि आपका मन भी प्रसन्‍न रहता है.
katyayani-1444805399
कात्यायिनी
नवरात्र के छठें दिन मां कात्‍यायिनी की पूजा होती है. इसलिए इस दिन आप लाल रंग के वस्‍त्र पहनें तो मां निश्चित ही प्रसन्‍न होंगी. वैसे भी माना जाता है कि लाल रंग मां को सबसे अध‍िक प्रिय है. इसके अलावा लाल रंग शक्ति का भी प्रतीक है.
kalratri-1
कालरात्रि
सातवें दिन मां कालरात्रि की उपासना की जाती है. सप्‍तमी के दिन मां को प्रसन्‍न करने के लिए नीले रंग के कपड़ों को पहनना लाभकारी हो सकता है. यह रंग आपके आत्‍मविश्‍वास को बढ़ाने के साथ ही आपके व्‍यक्तित्‍व को भी निखारता है.
kalratri-1
महागौरी
नवरात्र के आठवें दिन को अष्‍टमी कहा जाता है. अष्‍टमी को महागौरी की पूजा होती है. इस दिन के लिए सबसे उपयोगी रंग गुलाबी माना जाता है. यह रंग पवित्र प्रेम का द्योतक माना जाता है.
maa-siddhidatri-photo-1200x800
सिद्धिदात्री
आठ दिन व्रत रखने के बाद नौवें दिन माता को विदा करने का होता है. नवें दिन मां सिद्धिदात्री की पूजा करने का विधान है. अत: इस दिन के लिए सबसे उपयोगी बैंगनी रंग माना जाता है.
यह भी पढ़ें:
नवरात्र 2017 स्पेशल में जानें कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त और भी महत्वपूर्ण बातें…

कभी भूलकर भी ना रखें सोते समय ये 5 चीज़ें, नहीं तो हो सकती है…

सावधान! अगर आपके भी है बैली फैट तो हो सकता है ये ख़तरा…


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *