बाढ़ से हुई फसल के नुकसान का जायज़ा लेने के लिए कृषि मंत्री ने अधिकारियों के साथ किया बैठक…

WhatsApp Image 2017-09-13 at 12.20.29 PM (1)

हितेश कुमार: राज्य में आए प्रलयकारी बाढ़ से हुई फसल के नुकसान का जायजा लेने के लिए बिहार सरकार के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने आज अधिकारियों के साथ बैठक किया. बैठक में राज्य के 21 जिले जो बाढ़ प्रभावित हैं, उनमें फसलों के हुए नुकसान की वास्तविक स्थिति नुकसान, भरपाई तथा वैकल्पिक खेती हेतु विचार विमर्श किया गया.

बाढ़ के दौरान विभाग द्वारा फसल छति का प्रारंभिक आकलन कराया गया था. जिसके 810453 हेक्टेयर में फसल की छती का प्रतिवेदन राज्य सरकार को प्राप्त हुआ था. जिसमें सिंचिंत 695937 हेक्टेयर तथा असिंचित 46675 हेक्टेयर एवं गन्ना 67840 हेक्टेयर फसल बर्बादी का प्रतिवेदन राज्य सरकार को प्राप्त है वही फसलवार छती की बात किया जाए तो धान 667297 हेक्टेयर, मक्का 42201, गन्ना 67840 हेक्टेयर है.

इसके लिए करीब 1093.36 करोड़ रुपए की फसल क्षति मुआवजा की मांग भारत सरकार से किया गया है. बाढ़ के पानी उतरने के बाद फसलों के वास्तविक क्षति का आकलन किया जा रहा है. बाढ़ प्रभावित इलाकों में हुए फसल क्षति के लिए मुआवजे की राशि के तहत सिंचित क्षेत्र के लिए ₹13500 प्रति हेक्टेयर तथा असिंचित क्षेत्र के लिए 6800 रुपए प्रति हेक्टेयर दिया जाएगा. जबकि वार्षिक फसल हेतु मुआवजा 18000 रुपए प्रति हेक्टेयर किसानों को मुहैया कराया जाएगा. जिन इलाकों में जहां पानी निकल चुका है उन क्षेत्रों में फसलों पर कीट व्याधि के प्रकोप के रोकथाम के लिए पौधा संरक्षण पदाधिकारियों की टीम इस समस्या का निदान करेगी.

प्रभावित इलाकों में वैकल्पिक खेती के लिए किसानों द्वारा कम अवधि में तैयार होने वाली फसलों जैसे सरसों, मूली, मूंगफली, की मांग बढ़ रही है. कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने अधिकारियों को निर्देश जल्द से जल्द इन फसलों के बीज प्रभावित इलाकों में पहुंचाया जाए. कृषि मंत्री डॉक्टर प्रेम कुमार ने कहा कि बाढ़ एक प्राकृतिक आपदा है, इस संकट की घड़ी में राज्य सरकार एवं कृषि विभाग पुरी मुस्तैदी से किसानों के साथ खड़ी है. किसानों के लिए हर संभव सहायता उपलब्ध कराने का प्रयास किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें:
इन पुलिसकर्मियों के हरकत से शर्मशार हुई पटना पुलिस, दाग दार हुई वर्दी…

बाढ़ में नहीं थम रहा अपराधियों का कहर, पिछले चार दिनों में हत्या की चार वारदात

नकवी के लोकसभा और विधानसभा चुनाव को एक साथ कराने की वकालत के बाद जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह का बड़ा बयान…


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *