मूर्ति हटाने के विवाद को लेकर आपस में भिड़े दो समुदाय, आक्रोशित लोगों ने कर्मचारी की पत्नी की पिटाई…

2017_9$largeimg09_Sep_2017_185426427

ये घटना औरंगाबाद शहर के वार्ड नंबर एक जसोइया टोले मिसिर बिगहा गांव की है. जहाँ हनुमान जी की छोटी मूर्ति हटाने के मामले को इतना ज्यादा लोगों ने बढ़ा दिया कि ये मामला तुक पकड़ लिया. इस विवाद में नगर पुलिस को बीच-बचाव करने के लिए सामने आना पड़ा. एसडीओ कार्यालय में कार्यरत कर्मचारी रामनाथ पासवान और उनके परिवार पर यह आरोप लगाया गया है. वैसे इस घटना में आक्रोशित कुछ लोगों ने रामनाथ की पत्नी प्रभा देवी की पिटाई की है. ये मामला एक ही समुदाय और जाति से जुड़ा हुआ है.

वैसे कर्मचारी रामनाथ पासवान ने अपने ऊपर लगे आरोप पर कहा कि कुछ लोग जबरन ईंट-पत्थर पूजकर जमीन को कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि पूरा मामला यह है कि मिसिर बिगहा गांव के सड़क के किनारे वर्षों से हनुमान जी की छोटी मूर्ति को रखकर गांव के लोग पूजा-पाठ करते आ रहे थे़. इसी बीच अचानक मूर्ति को हटा दिया गया़. जिससे लोगों में आक्रोश की भावना जग गयी.

इस मामले में सुभाष पासवान, बबन पासवान, बिनेश्वर पासवान का कहना है कि पिछले कई दशक से हमलोग पूजा-पाठ करते आ रहे थे़. जिस जगह पर मूर्ति लगी हुई थी वह सरकारी जमीन है, लेकिन उस जमीं को कब्जे में लेने की नीयत से रामनाथ पासवान व उसके परिवार ने मूर्ति को हटा दिया.

शुक्रवार की पूरी रात इस विवाद पर पुलिस की निगाह रही़. पुलिस पदाधिकारी वहां लगातार निगरानी करते रहे और दोनों पक्षों से बात भी की. इस पूरा मामला के संबंध में महिला के बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज करने की बात सामने आ रही है. नगर थानाध्यक्ष राजेश कुमार वर्णवाल का कहना है कि इस मामले को बेवजह तूल दिया गया. पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है.

यह भी पढ़ें:
बिहार: जदयू नेता पर फायरिंग कर जख्मी कर देने के मामले में चार अपराधी गिरफ्तार…

शरद यादव ने लिया बड़ा फैसला, अब बिहार में….

कांग्रेस विधायक ने खोला लालू-तेजस्वी के खिलाफ मोर्चा


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *