शरद यादव ने नीतीश को दिया तगड़ा झटका, लिया बड़ा फैसला….

shrad yadav samvad yatra

न्यूज़ डेस्क: जनता दल यूनाईटेड के महागठबंधन से बाहर होने के बाद जदयू में घमासान मचा हुआ है. पार्टी दो धड़ों में हो गया एक नीतीश तो दुसरा शरद यादव का. शरद यादव के पास नाम मात्र के ही सिपाही है लेकिन नीतीश कुमार के पास पुरी फौज पड़ी है. नीतीश के इस फैसले के विरोध अब तक कोई भी बड़ा नेता और विधायक, सांसद गया है सिवाय शरद यादव गुट के वीरेंद्र अली अनवर के.

राज्‍यसभा सांसद अली अनवर को पार्टी विरोधी गतिविधि के लिए को जदयू संसदीय दल से निलंबित कर दिया है. लेकिन शरद यादव को अपनी बात रखने के लिए 19 अगस्‍त को हो रही राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में अपना पक्ष रखने का मौका दिया गया है. इन सब से बेफिक्र शरद यादव ने अपने यात्रा में कल सिमरी चौक पर कहा कि आज देश में जो हालात बने हैं, उसमें एक बहुत बड़ा गठबंधन बनाने की जरूरत है. शरद यादव ने घोषणा करते हुए कहा कि दिल्ली जाकर महागठबंधन की पार्टी बनाऊंगा. उन्होंने स्पष्ट किया कि ऊपर का गठबंधन टूट सकता है, लेकिन नीचे जनता का गठबंधन नहीं टूटना चाहिए. शरद ने इशारों ही इशारों में बड़ी बात कह दी, मैं बिहार की जनता को समझाने नहीं आया हूं, क्योंकि मुझे पता है कि यहां की जनता खुद समझदार है. विदित हो कि महागठबंधन टूटने के बाद से ही शरद यादव इस फैसले को स्वीकार नहीं किया है. लगातार इस फैसले का आलोचना की है. बिहार आगमन के पहले दिन ही उन्होंने कहा था कि आज भी महागठबंधन कायम है असली जदयू, कार्यकर्त्ता मेरे साथ आज भी हैं नीतीश के साथ सरकारी लोग हैं.

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.



Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *