जाने कैसी है फिल्म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’

एंटरटेनमेंट डेस्क : ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ फिल्म आज रिलीज हो है. यह एक ऐसी फिल्म है जो लोगों की अंधविश्वासी और दकियानूसी सोच पर हमला करती है जो अपने हिसाब से सभ्यता और संस्कृति को परिभाषित कर लेते हैं. यह एक ऐसी साधारण फिल्म है जो हमारे आस-पास हो रही चीजों को दिखाती है.

जैसे की बिल्ली के रास्ता काट जाने के बाद वो रास्ता बदल लेने का हो या फिर ब्याह के समय कुंडली दोष को ध्यान में रखकर शादी रचाने का हो. कुछ जगहों पर कहा जाता कि ‘जिस आंगन में तुलसी है वहां शौचालय कैसे बन सकता है.’ जिसे लेकर ही इस फिल्म के जरिए ये लोगों को ये घर में शौचालय के महत्व को एक प्रेम कहानी के जरिए समझाने की कोशिश की गई है.

इस फिल्म की कहानी अक्षय कुमार से शुरू होती है जिसे एक अमीर खानदान की लड़की जया से प्यार हो जाता है. जिसके बाद दोनों की शादी हो जाती है. लेकिन शादी की रात जया को पता चलता है कि अक्षय कुमार के घर में शौचालय नही है. जया घर में शौचालय बनवाने को कहती है पर केशव के पिताजी पंडित हैं और उनका मानना है कि जिस आंगन में तुलसी है वहां टॉयलेट नहीं बन सकता है.

जिसके बाद जया केशव को छोड़कर मायके चली जाती है. और यहाँ से अक्षय कुमार शौचालय बनाने के लिये पुरे समाज से लड़ता है. वहीँ इस फ़िल्म में जया की भूमिका में भूमि पेडनेकर ने बहुत अच्छी एक्टिंग की है. अक्षय कुमार ने भी अच्छी एक्टिंग की है. इसके साथ ही सुधीर पांडे ने पंडित की अपनी भूमिका में जान डाल दी है.

स्टार कास्ट: अक्षय कुमार, भूमि पेडनेकर, अनुपम खेर, दिव्येंदु शर्मा, सुधीर पांडे
डायरेक्टर: श्रीनारायण सिंह
रेटिंग: 2.5 स्टार

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.



Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *