गरीब छोला भटोरा दुकान संचालक की मौत के मामले में पुलिस की कार्यशैली पर उठे गंभीर सवाल


ललन कुमार: शेखपुरा छोला भटूरा दुकान संचालक पिंटू तांती की मौत के मामले में पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने जहां शुरू हो गए हैं वहीं इस पूरी घटना को लेकर परिजनों ने साफ शब्दों में कहा है कि पिंटू की हत्या की गई है परंतु इस हत्या की घटना को पुलिस दुर्घटना का नाम देने में जुट गई है. आखिर हत्या की घटना को दुर्घटना बताने की साजिश किसके इशारे पर की जा रही है. इस पूरे मामले में गहराई से जांच जरूरी है.



गौरतलब है कि बीती शाम शहर के तीन मोहानी मोड़ के समीप एक टेंपो से स्थानीय बंगालीपर मोहल्ला निवासी 30 वर्षीय पिंटू की लाश को बरामद किया गया था. मृतक के आंख के ठीक ऊपर गहरे जख्म के निशान पाए गए थे तथा शरीर के कुछ हिस्सों में भी गहरे चोट पाए गए थे। इस घटना को लेकर उहापोह की स्थिति बनी हुई थी कि  पिंटू की मौत किसी दुर्घटना में हुई है या फिर उसकी हत्या की गयी है ।इस घटना को लेकर जहां तरह-तरह के चर्चे जारी है। वही इस  मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई थी मृतक अपने साथियों के साथ ताड़ी पीने गया था और टेम्पो पर सवार होकर लौटने के क्रम में मेहूंस मोड़ से पहले टर्निंग पर टेंपो से वह फेंका गया और इसी घटना में वह गंभीर रुप से जख्मी हो गया जिसे इलाज के लिए निजी अस्पताल ले जाया जा रहा था परंतु रास्ते में मौत के कारण टेंपो चालक वाहन को छोड़कर भाग गया. वही इस घटना को लेकर मृतक पिंटू की विधवा संध्या देवी, उसकी मां लक्ष्मीनिया देवी तथा सास रानी देवी ने कहा कि पिंटू की मौत किसी दुर्घटना में नहीं हुई है बल्कि उसकी हत्या की गई है परंतु पुलिस इस मामले में जांच ही नहीं करना चाह रही और इसे दुर्घटना का रूप दे कर मामले को रफा दफा करना चाह रही है. उन्होंने कहा कि पिंटू  अपने चार-पांच साथियों के साथ पीने खाने कहीं गया था.

अगर किसी प्रकार की दुर्घटना होती तो फिर टेंपो पर सवार अन्य लोगों को भी चोटें आती परंतु ऐसा नहीं हुआ और टेंपो पर सवार सिर्फ पिंटू को ही इतनी गंभीर चोट आ गई कि उसकी मौत हो गई. उन्होंने उसके शरीर पर गहरे जख्मों का हवाला देते हुए कहा कि किसी दुर्घटना में महज खास जगह पर इतने गहरे जख्म और चोटें नहीं आ सकती. ऐसे में साफ है कि उसकी हत्या की गई है परंतु कुछ लोग इस हत्या की घटना को उजागर होने  नहीं देना चाह रहे हैं और पुलिस भी इस घटना की जांच निष्पक्षता पूर्वक करना नहीं चाह रही है। बहरहाल परिजनों ने भी इस मामले में गहराई से जांच की मांग प्रशासन से की है। वहीं मृतक के मोहल्ले में भी यह चर्चा जोरों पर है कि आपसी मारपीट के दौरान यह घटना घटी है परंतु इसे दुर्घटना का नाम दिया जा रहा है.



इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.


Tagged with:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *