गौहत्या पर पूर्ण प्रतिबंध के बयान के बाद तेज प्रताप को मोदी सरकार ने दिया बड़ा तौहफा…

tej pratap vrindavan



न्यूज़ डेस्क: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े पुत्र और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव को मोदी सरकार ने नए साल का तौहफा उनकी सुरक्षा में बढ़ोतरी से किया हैं. अब उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा दी जाएगी. बिहार में कम ही नेता हैं जिन्हें इस तरह की सुरक्षा मिली हुई हैं. सांसद पप्पू यादव, लोजपा सांसद चिराग पासवान, भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय, कांग्रेस अध्यक्ष सह मंत्री अशोक चौधरी, सांसद जनार्दन सिग्रीवाल सरीखे कई नेताओं को केंद्र सरकार की तरफ से वाई श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गयी है.

वाई श्रेणी की सुरक्षा व्यवस्था के तहत अब तेज प्रताप यादव के साथ अब 11 पुलिस वाले रहेंगे. उन्हें सुरक्षा में पुलिस की एक जीप और ड्राइवर भी उपलब्ध कराया जायेगा. सुरक्षा में दो सब इंस्पेक्टर, दो हेड कांस्टेबल, चार कांस्टेबल और दो होमगार्ड होते हैं. सीआरपीएफ के महानिदेशक ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया कि तेज प्रताप यादव की सुरक्षा व्यवस्था को केंद्र सरकार ने भी मंजूरी दी है.

राज्य सरकार भी गृह विभाग से हरी झंडी मिलने के बाद किसी व्यक्ति को वाई श्रेणी की सुरक्षा देती है. जानकारी के मुताबिक वाई श्रेणी की सुरक्षा में कुल ग्यारह पुलिसकर्मी मौजूद रहते हैं. जिस व्यक्ति को ये सुरक्षा दी जाती है उसकी सुरक्षा में पुलिस की एक जीप और ड्राइवर भी उपलब्ध कराया जाता है.

गौरतलब है कि तेज प्रताप यादव ने वृन्दावन यात्रा पर कहा था कि ‘हम भगवान कृष्ण के वंशज हैं. हम गौमाता, ब्रजभूमि और ब्रज संस्कृति को बचाने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे.’ उन्होंने इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी से मांग किया है कई गौहत्या पर भी उसी प्रकार से कारगर रोक लगाएं जिस प्रकार उन्होंने पुराने नोटों पर लगाई है.


[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *