अपने ही रूपये निकालने के लिए बैंक से परेशान ग्राहक!

baink


मुकेश कुमार : मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड के मुख्य बाजार स्थित ग्रामीण बैंक लोगो को मूह चिढा रहा है. अरजपुर, कलासन, लौआलगान, भटगामा, सहित कई अन्य गांव के ग्रामीण क्षेत्र के लोग ग्रामीण बैंक मे खाता खुलवा तो लिए है लेकिन ग्राहकों को रूपये नसीब नही हुए हैं. हालांकि रूपये सरकारी कामगारों के हिस्से में बखूबी जाता है. इस बैंक के मनमानी से चौसा ग्रामीण बैंक मे बिचौलिए फल फूल रहे

स्थानीए लोग राजा कुमार, राजकुमार शाह, मुकेश कुमार, मंडल, अमित कुमार, ने कहा कि बैंक मे अधिक समय तक भीड़ रहने के कारण निकाशी और जमा पर्ची नही देते है. किसी किसी दिन रूपया आता भी है तो सभी सरकारी कर्मचारी को दे दिया जाता है बाकी आम आदमी को रूपया के लिए एक दिन क्या रोज आना जाना नियत बन गया है लेकिन रूपया नही मिलता है. शाखा प्रबंधक बताते है की रूपया कम आने से आम लोगों को परेशानी हो रही है.

यही नही चौसा प्रखंड के मुख्य थाना से कुछ दूरी पर स्थित भारतीय स्टेट बैंक है जहां रूपया कम है और ग्राहक अधिक. यहां भी दो ही स्टाफ निकाशी के लिए है जिस कारण से ग्राहक को हर दिन साम छः बजे तक लाइन में लगना पड़ता है. पर कुछ लोग लाइन में ना लग कर मेनेजर से मिलकर चुपके से मनमानी रूपया निकाशी करते है.

Tagged with:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *