महागठबंधन छोड़ सीएम नीतीश जायेंगे एनडीए के साथ?

WhatsAppFacebook

nitish


न्यूज़ डेस्क: पीएम मोदी के प्रकाश उत्सव के दौरान बिहार के दौरे पर सीएम नीतीश कुमार द्वारा पीएम मोदी की सराहना ने राजनीति भूचाल लाकर में रख दिया है. खासकर उनका वह बात जिसकी कल तक वह खुले मंच से आलोचना करते थे वही बात पीएम के सामने तारीफ के रूप में कह दिया है.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश बिहार में पूर्ण शराबबंदी पर बात करते हुए पीएम की तारीफ कर बैठे जिसमे उन्होंने कहा की आप भी गुजरात के सीएम रहते हुए गुजरात में शराबबंदी को अच्छे तरीके से लागू रखा जिसकी आलोचना वह करते नहीं थकते थे. उनका कहना था कि गुजरात में शराबबंदी ठीक से लागू नहीं है हम बिहार में पूर्ण शराबबंदी को लागू किये है जबकि बिहार में आज भी रोज अवैध शराब की खेप पकड़ा जा रहा है.

पीएम के साथ प्रकाश उत्सव के इस मुलाकात से ही बीजेपी भी लगातार संकेत दे रही है कि अगर वह हमारे साथ आते हैं तो उनका स्वागत है. सबसे बड़ी बात बिहार के पूर्व सीएम और हिन्दुस्तान आवामी मोर्चा के राष्ट्रिय अध्यक्ष जीतनराम मांझी ने भी कहा है कि नीतीश जी 17 सालों तक एनडीए के साथ रहे हैं अभी वो मज़बूरी में महागठबंधन में हैं, राजद के साथ चल रहे हैं अगर वो एनडीए में वापस आना चाहते हैं तो उनका स्वागत है. हम तो पहले भी कह चुके हैं कि अगर वह एनडीए में फिर से आते हैं तो उनके साथ राजनीति करने में हमें कोई दिक्कत नहीं होगा. व्यक्तिगत तौर पर उनका स्वागत मैं करूंगा. गौरतलब है की पीएम के दौरे के बाद सीएम नीतीश के रवैये से महागठबंधन में लगातार बयानबाजी का दौर जारी है.

आज नोटबंदी के मुद्दे पर प्रदेश जदयू अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने नोटबंदी पर आज एक बड़ा बयान देकर बिहार की राजनीति में हलचल मचा दिया है. उन्होंने कहा कि पीएम के नोटबंदी पचास दिन बाद लोंगों का दिक्कत कुछ हद तक कम हुआ है. इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है वशिष्ठ नारायन सिंह ने कहा है की अभी हम शराबबंदी के लिए मानव श्रृंखला बनाने में जुटे हुए हैं साथ ही जन नायक कर्पूरी ठाकुर जी के जयंती को भी इसके साथ ही मनाएंगे. इसके बाद इस मुद्दे पर हमारी तरफ से समीक्षा की जायेगी और तब इस पर फैसला लेंगे. इसका मतलब अब जदयू पार्टी ने साफ़ कर दिया है की वह जनवरी के अंत तक ही इसका समीक्षा करेगा साथ ही इस बात की भी घोषणा किया है कि हम इसको ध्यान में रखेंगे की इस नोटबंदी का कितना दूरगामी असर होता है.

इस सब बातों से और पीएम के प्रति सीएम नीतीश का बढ़ता प्रेम यह जग जाहिर करता है कि कहीं आने वाले दिनों में बीजेपी के एनडीए गठबंधन के साथ न हो जायें.
ब्लॉग: विकर्ण राज, एडिटर डेली बिहार न्यूज़



इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
WhatsAppFacebook

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *