प्रधानाध्यापक ने 8वीं की छात्रा को नए कपड़े और पैसे का दिया लालच फिर उसके साथ…

RAPE

representative


मधेपुरा. प्रखंड क्षेत्र के कुमारपुर स्थित मध्य विद्यालय के प्रधानाध्यापक और सहायक शिक्षक को छात्रा के साथ अश्लील हरकत करना मंहगा पड़ा. दोनों ने मिलकर छात्रा को प्रेम जाल में फंसाने की कोशिश की. लेकिन इस चक्कर में गुरुजी कामयाब नही हो पाए और आरोपी प्रधानाचार्य श्यामदेव राम को हवालात की हवा खानी पड़ी . जबकि सहायक शिक्षक पवन यादव फरार हो गया. पुलिस ने दोनों आरोपी के विरूद्ध कार्रवाई करने की बात कही है. घटना से आक्रोशित लोगों ने स्कूल परिसर में जमकर हंगामा किया. वहीं सड़क जाम कर विरोध जताया.

यही नहीं आरोपी एचएम को स्कूल में बंद कर बंधक बना लिया. विद्यालय परिसर में कंडोम मिलने पर भी लोगों का गुस्सा भड़का हुआ था. सूचना मिलने पर पहुंचे उदाकिशुनगंज के बीडीओ शशिभूषण कुमार और बिहारीगंज थाना के दारोगा कामेश्वर राय को भी लोगों ने विद्यालय परिसर में कुछ देर के लिए कब्जे में रखा. आक्रोशित लोग आरोपी शिक्षक का सर मुड़वाकर गांव में घूमाने, हथकड़ी लगा कर ले जाने और डीएम को बुलाने की मांग कर रहे थे. यद्यपि स्थानीय जनप्रतिनिधियों की पहल पर लोगों का गुस्सा शांत हुआ. उसके बाद पुलिस आरोपी एचएम को थाना ले गई.

छात्रा को नए कपड़े व रुपये का दे रहे थे लालच

ग्रामीणों के अनुसार 28 सितंबर को स्कूल पढ़ने गई आठवीं कक्षा की एक छात्रा को सहायक शिक्षक पवन यादव ने कार्यालय कक्ष में ले जाकर अश्लील हरकत करने की कोशिश की. छात्रा को नए कपड़े और प्रत्येक माह रूपया देने का प्रलोभन दिया गया. लेकिन छात्रा किसी तरह शिक्षक के चंगुल से बाहर निकल कर घर भाग

आई. डरी सहमी छात्रा ने घर वालों को उस समय नहीं बताया. गुरुवार को हिम्मत जुटा कर छात्रा ने घटना की जानकारी अपने घर वालो को दी. जहां परिवार वालों ने इस बात को गांव के समक्ष रखा. गांव वालों ने गुरुवार की रात्रि ही शिक्षकों के खिलाफ आंदोलन का मूड बना लिया.

शुक्रवार की सुबह आक्रोशित लोग सड़क पर जमा हो गए और बिहारीगंज-योगीराज सड़क जाम कर दिया. मौके पर आरोपी शिक्षक को बुलाकर बंधक बना लिया गया.

विद्यालय में मिला आपत्तिजनक

लोगों का कहना था कि स्कूल के कार्यालय कक्ष के एक कमरे में बेड लगा है. वहां कई कांडोम भी रखा हुआ मिला. इससे लोगों का आक्रोश और भड़क उठा था. जाम और हंगामे की सूचना पर अधिकारी पहुंचे. लेकिन लोग अधिकारी के बातों सुनने के लिए तैयार नही हुए. जब आरोपी एचएम को पुलिस थाना ले जाने लगे तो लोगों ने स्कूल के मुख्य द्वार को ही बंद कर दिया. इस कारण अधिकारी भी लोगों के कब्जे में रहे. काफी प्रयास के बाद लोग माने और हथकड़ी पहुंचने पर ही आरोपी को पुलिस के साथ जाने दिया.

लोगों का आरोप था कि एचएम और सहायक शिक्षक पिछले एक साल से किसी न किसी छात्रा के साथ गलत काम कर रहे थे. तब इस बात की महज चर्चा हो रही थी. बात जब पकड़ में आया तो लोग उग्र हुए और शिक्षक पर कार्रवाई हुई. इधर पुलिस गिरफ्त में आरोपी एचएम ने कहा कि उन्हें साजिश के तहत फंसाया गया है. मौके पर पूर्व मुखिया उपेंद्र प्रसाद मेहता, मुखिया मनोज कुमार भारती, उप प्रमुख मुनेशवर राय, सुनील भगत, भूषण कुमार आदि मौजूद थे.


[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Tagged with:

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *